प्रेगनेंसी में पूजा करना चाहिए या नहीं / गर्भावस्था में नदी पार करना चाहिए या नहीं

प्रेगनेंसी में पूजा करना चाहिए या नहीं / गर्भावस्था में नदी पार करना चाहिए या नहीं – प्रेगनेंसी को लेकर महिलाओ के मन में काफी सारे सवाल होते है जिसमे से एक मुख्य सवाल यह भी है की प्रेगनेंसी में महिलाओ को पूजा करनी चाहिए या नही. आये दिन गूगल पर इस सवाल को महिलाओ के द्वारा पूछा जाता है.

लेकिन हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से इस सवाल का सटीक जवाब देने वाले हैं. आपके इस सवाल का जवाब जानने के लिए आज का हमारा यह आर्टिकल अंत तज जरुर पढ़े.

pregnancy-me-puja-karna-chahie-ya-nhi (2)

आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताने वाले है की प्रेगनेंसी में पूजा करना चाहिए या नहीं. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान करने वाले हैं.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

प्रेगनेंसी में पूजा करना चाहिए या नहीं

प्रेगनेंसी में पूजा करना चाहिए या नही यह सवाल आपकी इच्छा और मर्जी पर निर्भर करता हैं. अगर आपकी इच्छा है की प्रेगनेंसी के दिनों में भी भगवान की पूजा सेवा की जाए तो आप कर सकती हैं. इसमें कोई भी बुराई नही हैं.

अगर आप चाहती है की प्रेगनेंसी के दिन चल रहे हैं. हमे पूजा आदि जैसे धार्मिक कार्य नही करने चाहिए. तो आप अपनी इच्छा अनुसार ऐसा भी कर सकती हैं. आप प्रेगनेंसी में पूजा नही करना चाहती हैं. तो मत कीजिए इसमें भी कोई बुराई नही हैं.

महिलाएं अपनी इच्छा अनुसार पूजा कर भी सकती हैं. और इच्छा नही है तो नही भी कर सकती हैं. यह आपकी आस्था और आपकी मर्जी पर निर्भर करता है की आपको पूजा करनी चाहिए या नहीं.

गर्भवती महिला को शिवलिंग पर जल चढ़ाना चाहिए या नहीं

गर्भवती महिला को शिवलिंग पर जल चढ़ाना चाहिए या नहीं यह भी उनकी इच्छा और मर्जी पर निर्भर करता हैं. कुछ महिलाएं गर्भावस्था में शिवलिंग पर जल नही चढाती हैं. तो कुछ महिलाओ को शिवजी में काफी अधिक श्रद्धा होती हैं. और वह गर्भवती होने के बाद भी शिवलिंग पर जल चढ़ाना चाहती हैं. तो ऐसे में वह शिवलिंग पर जल चढ़ा सकती हैं.

गर्भवती होने के बाद भी शिवलिंग पर जल चढ़ाने में कोई बुराई नही हैं.

गर्भावस्था में नदी पार करना चाहिए या नहीं

कुछ शास्त्रों के मुताबिक ऐसा माना जाता है की गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था के दिनों में नदी पार करने से बचना चाहिए. ऐसा माना जाता है की नदी में नकारात्मक ऊर्जा हो सकती हैं.

कुछ लोग नदी में अस्थि विसजर्न करते हैं. तो कुछ लोग शव को अग्निदाह देने की बजाय नदी में बहा देते हैं. ऐसे में नदी के आसपास और नदी में नकाराम्तक ऊर्जा का वास होता हैं.

इसलिए गर्भवती महिलाओ को गर्भावस्था के दिनों में नदी पार करने की मनाई होती हैं. क्योंकि इससे गर्भ में पल रहे बच्चे पर बुरा असर पड़ सकता हैं. या फिर शिशु नकारात्मक ऊर्जा की चपेट में आ सकता हैं. इसलिए गर्भावस्था के दिनों में महिलाओ को नदी पार करने से मना कर दिया जाता हैं.

गर्भावस्था के 8वें महीने में यात्रा करना चाहिए या नहीं

गर्भावस्था के 8वें महीने में यात्रा करना किसी भी महिला के लिए सुरक्षित नही माना जाता हैं. इन दिनों में महिला को अधिक थकान और असहजता महसूस होती हैं. ऐसे में अगर आप लंबी यात्रा करती हैं. तो आपको और शिशु दोनों को हानि हो सकती हैं. इसलिए गर्भावस्था के 8वें महीने में यात्रा करने से बचे.

pregnancy-me-puja-karna-chahie-ya-nhi (3)

गर्भावस्था के 8वें महीने में नही करने वाले काम

  • घर का काम कम से कम करे
  • जरूरत नही है तो यात्रा करने से बचे
  • वजनदार काम करने से बचे
  • जन फ़ूड आदि खाने से बचे
  • कोल्ड्रिंक आदि पीने से बचे
  • और अधिक से अधिक आराम करे

गर्भवती महिलाओ को कौनसे भगवान की पूजा करनी चाहिए

गर्भवती महिला जिस भगवान में श्रद्धा रखती हैं. उस भगवान की पूजा कर सकती हैं. अगर आप चाहे तो इष्टदेव अपने इष्टदेव की पूजा कर सकती हैं.

गर्भवती महिलाओ को हवन करना चाहिए या नही

वैसे अगर हेल्थ के मामले में देखा जाए तो गर्भवती महिलाओ को हवन नही करना चाहिए. क्योंकि हवन काफी लंबे समय तक चलते हैं. ऐसे में अगर आपको हवन में बैठने पर थकान हो रही हैं. तो आपको ऐसा रिस्क नही लेना चाहिए.

लेकिन आपकी हेल्थ आपका साथ दे रही हैं. आप हवन में बैठने के लिए सक्षम हैं. तो आप हवन में बैठ सकती हैं. गर्भावस्था में हवन में बैठना कोई बुराई नही हैं.

गर्भवती महिलाओं को कौन सा पाठ करना चाहिए?

गर्भवती महिलाएं गर्भावस्था के दिनों में गणेश अथर्वशीर्ष का पाठ कर सकती हैं. ऐसा माना जाता है की इन दिनों में इस पाठ को करने से शिशु के अंग मजबूत बनते हैं. इससे महिला को भाग्यशाली संतान की प्राप्ति होती हैं.

FAQs (अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न)

गर्भवती महिला को कौन सा मंत्र का जाप करना चाहिए?

ऊं देवकी सुत गोविंद वासुदेव जगत्पते. देहि मे तनयं कृष्ण त्वामहं शरणं गत:इस मंत्र का जाप गर्भावस्था के दिनों में करना चाहिए.

क्या हम गर्भावस्था के दौरान ओम नमः शिवाय का जाप कर सकते हैं?

जी हाँ गर्भावस्था के दिनों में इस मंत्र का जाप कर सकते हैं. इस मंत्र का जाप करने से आपको शुभ फल की प्राप्ति होती हैं.

क्या प्रेगनेंसी में व्रत रखना चाहिए?

जी नही अगर किसी हेल्थ एक्सपर्ट की माने तो आपको प्रेगनेंसी के दिनों में व्रत नही करना चाहिए. क्योंकि प्रेगनेंसी के दिनों में किसी भी महिला का शरीर कमजोर होता हैं. ऐसे में प्रेगनेंसी के दिनों में व्रत रखना सुरक्षित नही माना जाता हैं. इसलिए हो सके तो प्रेगनेंसी में व्रत नही करना चाहिए.

pregnancy-me-puja-karna-chahie-ya-nhi (1)

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताया है की प्रेगनेंसी में पूजा करना चाहिए या नहीं. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान की हैं.

हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा. अगर उपयोगी साबित हुआ हैं. तो आगे जरुर शेयर करे. ताकि अन्य लोगो तक भी यह महत्वपूर्ण जानकारी पहुंच सके.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा प्रेगनेंसी में पूजा करना चाहिए या नहीं / गर्भावस्था में नदी पार करना चाहिए या नहीं आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top