मेहंदीपुर बालाजी के प्रश्न और उनके उत्तर जाने

मेहंदीपुर बालाजी के प्रश्न और उनके उत्तर जाने – मेहंदीपुर बालाजी मंदिर के बारे में आप सभी लोगो ने सुना ही होगा. और आप में से काफी लोग ने मेहंदीपुर बालाजी मंदिर जाकर पवनपुत्र हनुमानजी के दर्शन भी किये होगे. इस मंदिर में आपको हनुमानजी के बाल स्वरूप के दर्शन होते हैं.

ऐसा माना जाता है जो जातक भुत प्रेत तथा ऊपरी बाधा की चपेट में आ जाता हैं. ऐसे जातक को मेहंदीपुर बालाजी मंदिर से भुत प्रेत आदि से छुटकारा मिलता हैं. इसके अलावा यहाँ जाने के बाद जातक के जीवन में आने वाले संकट भी टल जाते हैं.

mehandipur-balaji-ke-prashan-aur-uttar

मेहंदीपुर बालाजी मंदिर को लेकर काफी श्रधालुओं के मन में विभिन्न प्रकार के प्रश्न है. आज हम ऐसे ही कुछ प्रश्न के जवाब इस आर्टिकल के माध्यम से देने वाले हैं.

आज हमारे इस आर्टिकल में मेहंदीपुर बालाजी मंदिर को लेकर जो भी आप सभी के मन में प्रश्न हैं. उनका विस्तारपूर्वक जवाब दिया जायेगा. इसलिए आज के हमारे इस आर्टिकल में अंत तक बने रहिए.

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से मेहंदीपुर बालाजी के प्रश्न का जवाब देने वाले हैं. इसके अलावा मेहंदीपुर बालाजी के बारे में अन्य टॉपिक पर भी चर्चा करने वाले हैं.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

मेहंदीपुर बालाजी के प्रश्न

मेहंदीपुर बालाजी के मंदिर से जुड़े कुछ प्रश्न और उनके जवाब हमने नीचे बताये हैं.

प्रश्न– 1: मेहंदीपुर बालाजी मंदिर जाने के पहले क्या करना चाहिए?

  • अगर आप मेहंदीपुर बालाजी मंदिर जाने के बारे में सोच रहे हैं. तो मंदिर जाने के एक सप्ताह पहले से ही मांस, मदिरा, तामसिक आहार, प्याज, लहसुन आदि छोड़ दे. मंदिर जाने के बाद और दर्शन करने के दौरान भी इन सभी वस्तु का सेवन ना करे.
  • मेहंदीपुर बालाजी में आरती के समय आपको भी आरती में हिस्सा लेना चाहिए. आरती में आपका ध्यान सिर्फ बालाजी पर ही होना चाहिए. अन्य जगह पर अपने ध्यान को ना भटकाए.
  • मेहंदीपुर बालाजी में आरती के समय पीछे मुड़कर देखना वर्जित माना जाता हैं. अगर आपको कोई आरती के समय पीछे से पुकारता हैं. तो पीछे मुड़कर ना देखे.
  • मेहंदीपुर बालाजी मंदिर में हनुमानजी के बाल स्वरूप के दर्शन करने के साथ साथ आपकोप्रभु श्री राम और माता सीता के भी दर्शन करने चाहिए.

प्रश्न– 2: मेहंदीपुर बालाजी मंदिर से प्रसाद घर क्यों नही लाया जा सकता हैं?

ऐसा माना जाता है की वहां काफी लोग ऐसे आते हैं. जो भुत प्रेत से छुटकारा पाना चाहते हैं. वहां भुत प्रेत से पीड़ित लोगो का इलाज होता हैं. ऐसे में अगर आप मंदिर का प्रसाद घर पर लेकर आते हैं. तो बुरी आत्माएं भी प्रसाद के साथ आपके घर तक आ सकती हैं. इसलिए मेहंदीपुर बालाजी मंदिर का प्रसाद घर लाना वर्जित माना जाता हैं.

प्रश्न– 3: मेहंदीपुर बालाजी मंदिर में किन किन भगवान के दर्शन होते हैं?

  • मेहंदीपुर बालाजी मंदिर में आपको हनुमानजी महाराज के बाल स्वरूप के अलौकिक दर्शन होते हैं.
  • इसके अलावा बालाजी के साथ साथ आपको भैरव बाबा के दर्शन भी होते हैं.
  • इस मंदिर में आपको प्रेत राज सरकार के भी दर्शन का लाभ मिलता हैं.
  • इस मंदिर में सीता राम दरबार भी हैं. आपको सीता राम दरबार के दर्शन होगे. जिसमे आपको प्रभु श्री राम और माता सीता के दर्शन का लाभ भी मिलता हैं.

प्रश्न– 4: मेहंदीपुर बालाजी के परहेज / मेहंदीपुर बालाजी के नियम

मेहंदीपुर बालाजी मंदिर के कुछ परहेज और नियम हमने नीचे बताये हैं.

  • अगर आप इस मंदिर में दर्शन करने के लिए जाने के बारे में सोच रहे हैं. तो एक सप्ताह के पहले ही तामसिक वस्तु, शराब, मांस, मदिरा, अंडा, लहसुन, प्याज आदि का सेवन करना बंद कर दे.
  • मेहंदीपुर बालाजी मंदिर जाने पर आपको बालाजी के दर्शन के साथ साथ प्रभु श्री राम और माता सीता के दर्शन भी करने चाहिए. इसके अलावा वहां मौजूद भैरव बाबा के दर्शन भी करे.
  • मेहंदीपुर बालाजी मंदिर का प्रसाद घर लाना मनाई हैं. इसलिए वहां का प्रसाद अपने घर लेकर ना आये. लिया हुआ प्रसाद वही खा ले.
  • मेहंदीपुर बालाजी मंदिर में हनुमानजी को लड्डू, भैरव बाबा को उडद की दाल और प्रेत राज सरकार को चावल का भोग लगाना चाहिए.
  • मंदिर में जाने के पश्चात वहां सुबह शाम आरती होती है. आपको भी बीना भूले आरती में हिस्सा लेना हैं. और बालाजी की पूजा अर्चना करनी हैं.
  • मेहंदीपुर बालाजी मंदिर में आरती के समय आपको सिर्फ भगवान पर ही ध्यान रखना चाहिए.

mehandipur-balaji-ke-prashan-aur-uttar-1

प्रश्न– 5: मेहंदीपुर बालाजी अर्जी लगाने का तरीका

मेहंदीपुर बालाजी मंदिर में अर्जी लगाने का पूरा तरीका हमने नीचे बताया हैं.

  • मेहंदीपुर बालाजी मंदिर जाने के पश्चात आपको एक कागज पर अपनी अर्जी लिख लेनी हैं. आपकी जो समस्या हैं. तीन समस्या को अर्जी में लिख ले.
  • अब एक कटोरी घी ले ले. और एक थाली में आपकी अर्जी और एक कटोरी घी अपने माथे पर ररखकर मंदिर में जाए.
  • अब आप आपके पिता का नाम, महिलाए अपने पति का पूरा नाम और अपना पूरा नाम बोलते हुए जाना हैं.
  • इसके अलावा आपको आपका पता बताते हुए तीन समस्या को मन ही मन में बोलना हैं. और इस समस्या के निवारण की मन में ही प्रार्थना करनी हैं.
  • अब इस आपके सिर पर रखी थाली अर्जी और घी की कटोरी पुजारी को दे दे.
  • अब पुजारी उसमे से कुछ भोग लगाकर आपको थाली तुरंत ही वापस कर देगे.
  • अब आगे के तीन मंदिर में भी आपको भोग लगा देना हैं.
  • इस प्रकार से मेहंदीपुर बालाजी मंदिर में आपकी अर्जी स्वीकार हो जाएगी.

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने इस आर्टिकल के माध्यम से मेहंदीपुर बालाजी के प्रश्न के बारे में चर्चा की हैं. इसके अलावा इस टॉपिक से जुडी अन्य और भी जानकारी प्रदान की हैं.

हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा. अगर उपयोगी साबित हुआ हैं. तो आगे जरुर शेयर करे. ताकि अन्य लोगो तक भी यह महत्वपूर्ण जानकारी पहुंच सके.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा मेहंदीपुर बालाजी के प्रश्न और उनके उत्तर जाने आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top